Share
एंबुलेंस के इंतजार में तीन घंटे सड़क पर बैठी रही गर्भवती

एंबुलेंस के इंतजार में तीन घंटे सड़क पर बैठी रही गर्भवती

ऋषिकेश: पौड़ी जिले के यमकेश्वर प्रखंड की स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है। इसके चलते ग्रामसभा घाईखाल के खंड गांव सिगड्डी में एक गर्भवती महिला को एंबुलेंस नहीं मिल पाई। वह तीन घंटा रात में सड़क के किनारे 108 सेवा का इंतजार करती रही।

जब एंबुलेंस नहीं मिली तो करीब 40 किलोमीटर उबड़ खाबड़ मार्ग का सफर उसने बाइक में सवार होकर किया। तब राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश पहुंचने के दो मिनट बाद ही महिला को प्रसव हो गया।

सिगड्डी निवासी अनीता देवी 27 पत्नी मनोज को मंगलवार की रात करीब 7:00 बजे प्रसव पीड़ा हुई। आशा कार्यकत्री को बताया गया तो उसने पोखर खाल में 108 सेवा को फोन किया। पता चला यह सेवा किसी और मरीज को लेकर गई है। इसके बाद शिवपुरी की 108 सेवा को सूचित किया गया।

इस बीच करीब डेढ़ किलोमीटर पैदल चलकर गर्भवती को सड़क तक लाया गया। यहां वह तीन घंटे तक एंबुलेंस का इंतजार करती रही, मगर रात 11:00 बजे तक एंबुलेंस नहीं आई। गर्भवती सड़क के किनारे बैठकर एंबुलेंस का इंतजार करती रही। इस मामले में ग्राम प्रधान शशि देवी के पति कृष्णा नेगी ने गर्भवती को अपनी बाइक मैं बैठाया और ऋषिकेश राजकीय चिकित्सालय के लिए चल पड़े।

मोहन चट्टी के समीप 108 सेवा इन्हें मिली, लेकिन चालक ने बताया कि गाड़ी में खराबी आई है। मगर उसके द्वारा किसी अन्य 108 सेवा को सूचित नहीं किया गया था। ग्राम प्रधान के पति महिला को लेकर 12:30 बजे रात राजकीय चिकित्सालय पहुंचे। चिकित्सालय में पहुंचने के दो मिनट बाद ही अनीता देवी ने पुत्री को जन्म दिया। ग्राम प्रधान ने क्षेत्रीय विधायक रितु खंडूरी व उप जिलाधिकारी को मामले की पूरी जानकारी दी।

Leave a Comment